सि‍नेमा

शादी को लेकर आलिया ने तोड़ी चुप्पी, दिया ये बड़ा बयान

By हरि मृदुल | Feb 15, 2017 |
alia
मुंबई. बहुत कम समय में आलिया भट्ट ने अपने करियर की बुलंदियां छू ली हैं। पिछले साल आई उनकी ‘उड़ता पंजाब’, ‘कपूर एंड संस’ और ‘डियर जिंदगी’ फिल्मों ने न सिर्फ अच्छा बिजनेस किया, बल्कि इन्हें क्रिटिक्स की भी सराहना मिली। इस साल भी आलिया को उम्मीद है कि उनकी फिल्मों की कामयाबी का सिलसिला बना रहेगा। इन दिनों उनकी अपकमिंग फिल्म ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ चर्चा में है। धर्मा प्रोडक्शन की इस फिल्म का डायरेक्शन शशांक खेतान ने किया है। इस फिल्म में एक बार फिर आलिया और वरुण धवन की जोड़ी दिखाई देगी। पेश है, आलिया भट्ट से बातचीत। 

फिल्म ‘हंप्टी शर्मा की दुल्हनिया’ के बाद अब आप इसी सीरीज में ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ में नजर आएंगी। दुल्हन का किरदार निभाते हुए आपको कितनी एक्साइटमेंट रहती है? 
मेरे लिए दुल्हन का किरदार निभाना काफी एक्साइटिंग रहता है। हालांकि इस फिल्म में मैं रुटीन किस्म की दुल्हन नहीं बनी हूं। बावजूद इसके दुल्हन बनना एक अलग ही अहसास से भर देता है। इससे पहले भी दो बार दुल्हन का किरदार पर्दे पर निभा चुकी हूं। ‘2 स्टेट्स’ और ‘हंप्टी शर्मा की दुल्हनिया’ में मेरे दुल्हन के किरदार काफी पसंद किए गए थे। ऐसी ही उम्मीद मुझे ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ से है। यह बहुत ही मजेदार फिल्म है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मेरा रोल चैलेंजिंग नहीं है। मुझे हल्के-फुल्के किरदार ज्यादा चैलेंजिंग लगते हैं।
 
 
वरुण धवन के साथ यह आपकी तीसरी फिल्म है। उनके साथ आपकी केमिस्ट्री काफी अलग होती है। आपका क्या कहना है? 
वरुण और मैंने एक साथ फिल्म ‘स्टूडेंट आॅफ द ईयर’ से एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी, इससे हमारी बॉन्डिंग अच्छी होनी ही है। सबसे अच्छी बात यह है कि वो मेरा दोस्त भी है। एक एक्टर के तौर पर भी वह काफी चैलेंज देता है। वह बहुत मेहनती है। मुझे लगता है कि हम साथ में काम करने का एक रिकॉर्ड जरूर बनाएंगे।
 
इस फिल्म का कंपैरिजन आपकी ही पहली फिल्म ‘हंप्टी शर्मा की दुल्हनिया’ से होगा? 
इन दोनों फिल्मों में एंटरटेनमेंट के लेवल पर काफी कुछ एक जैसा है। दोनों में ही एक लव स्टोरी है। दोनों ही लाइट हार्टेड फिल्म हैं, इनमें फन भी एक जैसा ही है। अगर दोनों फिल्मों का कंपैरिजन होगा, तो मुझे कोई परेशानी नहीं होने वाली है। हां, फिल्म की रिलीज के बाद यह जरूर देखा जाएगा कि बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा कमाई किसने की। मुझे लगता है कि ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ बाजी मार लेगी।

रियल लाइफ में आप दुल्हन कब बनेंगी? शादी के बाद आप एक बहू के रूप में अपनी भूमिका में कितनी खरी उतरेंगी? 
अभी मेरी उम्र ही क्या है, जो मैं खुद के दुल्हन बनने के बारे में सोचूं। लेकिन मुझे लगता है कि जब भी मेरी शादी होगी, मैं आसानी से उसे निभा ले जाऊंगी। मैं अपने घर के भीतर पंगा लेने वाली लड़की नहीं हूं।
 
 
आप धर्मा प्रोडक्शन की फेवरेट हीरोइन बन चुकी हैं। करण जौहर आप पर बहुत ज्यादा भरोसा करते हैं? 
करण सर मुझे बच्ची की तरह ही प्यार करते हैं। वे मेरे गॉडफादर हैं। मुझे कोई भी दिक्कत आती है, तो सबसे पहले उन्हें ही फोन करती हूं। वे हमेशा ही मेरी हेल्प करते हैं। मेरी लाइफ में उनकी एक खास जगह है। 

इस फिल्म की शूटिंग झांसी और कोटा जैसे छोटे शहरों में हुई है। कैसे एक्सपीरियंस रहे? 
बहुत यादगार एक्सपीरियंस रहे। छोटे शहरों का मिजाज काफी अलग होता है। वहां के लोगों का लाइफस्टाइल भी डिफरेंट होता है। पहली बार धर्मा प्रोडक्शन की किसी फिल्म की शूटिंग इन जगहों पर हुई है। दरअसल, फिल्म में एक छोटे शहर की कहानी है और छोटे शहर के किरदार हैं, तो वहां का फ्लेवर लाने के लिए रियल लोकेशन की शूटिंग जरूरी थी।  
 
 
इस फिल्म में ‘तम्मा तम्मा लोगे...’ जैसा एक पुराना गाना रखा गया है। यह एक नया ट्रेंड चल पड़ा है। इसके बारे में क्या कहेंगी? 
यंग जेनरेशन को पुराने हिट सॉन्ग्स का पता ही नहीं है, इसलिए यह एक अच्छा ट्रेंड है बीते दौर के म्यूजिक, सॉन्ग से उन्हें रूबरू कराने का। यह गाना एक ट्रिब्यूट है, इसे रिक्रि एट नहीं किया गया है। भला संजय दत्त और माधुरी दीक्षित जैसी जोड़ी का हम क्या मुकाबला कर सकते हैं। 

आप जिस तरह के किरदार निभा रही हैं, उससे लगता है कि आपका  इंट्रेस्ट सेमी आर्ट या आॅफबीट फिल्मों की ओर ज्यादा है? 
मैं ‘हाइवे’, ‘डियर जिंदगी’, ‘उड़ता पंजाब’ जैसी फिल्में कर चुकी हूं, इसलिए मेरे बारे में ऐसा कहा जा रहा है। सच यह है कि मैं एक हीरोइन के तौर पर बैलेंस बनाकर काम करना चाहती हूं। मुझे हर तरह की फिल्में करनी हैं। मैंने जब बॉलीवुड में कदम रखा था, तब पता नहीं था कि इतनी तरह की फिल्में होती हैं। मुझे आर्ट, आॅफबीट, रियलिस्टक फिल्म जैसे टैग्स की कोई नॉलेज नहीं थी। मुझे तो सिर्फ हिंदी फिल्में करनी थीं और हीरोइन बनना था। आज भी मैं ढूंढ़-ढूंढ़कर खास तरह की फिल्में नहीं करती हूं। जो फिल्में मुझे आॅफर होती हैं, उन्हीं में से चुनती हूं। 

मेरे लिए हर दिन वैलेंटाइन-डे है 
तीन दिन बाद चौदह फरवरी यानी वैलेंटाइन-डे है। आलिया के लिए यह दिन कितना मायने रखता है, प्यार उनके लिए क्या है, पूछने पर वह बताती हैं, ‘मेरा मानना है कि प्यार एक प्योर इमोशन है। प्यार बदले में कुछ नहीं मांगता। प्यार करने की कोई शर्त नहीं होती। जरूरी नहीं कि प्यार के लिए कोई खास दिन तय हो। लेकिन यह भी सच है कि न्यू जेनरेशन वैलेंटाइन-डे की दीवानी है। इस बहाने यूथ को अपनी फीलिंग एक्सप्रेस करने का मौका मिलता है। इसलिए इस दिन को सेलिबे्रट करने में बुराई नहीं है। मैं अपनी कहूं, तो मेरे लिए हर दिन वैलेंटाइन-डे है। मैं प्यार करने और बांटने में यकीन करती हूं। अब यह प्यार लवर से भी हो सकता है, दोस्त से भी हो सकता है। पैरेंट्स, सिस्टर-ब्रदर और दूसरे रिलेटिव्स से भी हो सकता है।’
 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • DMBIO
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    फिल्म साइन करने से पहले बॉलीवुड स्टार्स की होती हैं ये शर्तें

    फिल्म साइन करने से पहले बॉलीवुड स्टार्स ...

    हर स्टार फिल्म साइन करते समय प्रोड्यूसर-डायरेक्टर के सामने कुछ शर्तें रखता है, ...

    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो दें गोविंदा

    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो ...

    फिल्म का बजट 22 करोड़ था लेकिन फिल्म ने दो दिनों में 50 लाख का कलेक्शन किया है।

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं देशद्रोही, फिल्मों में बजावा रहे हैं मौला-मौला

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं ...

    अभिजीत ने आगे कहा कि शिरीष जान बूझकर सिर्फ हिन्दुओं को ही टार्गेट करते हैं।